May 23, 2024

घराट

खबर पहाड़ से-

इजरायली सेना गाजा शहर पर पूरी तरह कब्जा करने के लिए बढ़ी आगे, आतंकी दक्षिण की ओर भागने को हुए मजबूर

1 min read

गाजा में इजरायल-हमास युद्ध मंगलवार को 39वें दिन में प्रवेश कर गया। इस बीच, इजरायल के रक्षा मंत्री योएव गैलेंट ने दावा किया है कि हमास ने गाजा पट्टी में नियंत्रण खो दिया है। इजरायली बल गाजा शहर पर पूरी तरह कब्जा करने के लिए आगे बढ़ रहे हैं। कहा, बढ़ते दबाव से हमास आतंकी दक्षिण की ओर भागने को मजबूर हैं। नागरिक हमास के ठिकानों पर लूटपाट कर रहे हैं। उन्हें फलस्तीन प्रशासन पर कोई विश्वास नहीं रह गया।
द टाइम्स आफ इजरायल के अनुसार, गैलेंट ने कहा कि इजरायली बल गाजा में हर तरफ आगे बढ़ रहे हैं। कहा, इजरायल डिफेंस फोर्सेज (आइडीएफ) को रोकने के लिए हमास के लड़ाके सक्षम नहीं हैं। वहीं, मंगलवार को इजरायली हमले में वेस्ट बैंक में आठ लोगों की मौत हो गई। इनमें से सात लोग तुलकरम के पास छापे के दौरान संघर्ष में मारे गए। इस बीच, आइडीएफ के प्रवक्ता रिअर एडमिरल डेनियल हगारी ने प्रेसवार्ता में बताया कि जब गाजा शहर में बच्चों के रनतीसी अस्पताल में आइडीएफ ने छापा मारा तो वहां हमास के आतंकी ठिकाने के साक्ष्य मिले।

हमास के एक गैंग को मार गिराया गया- इजरायली सेना
उन्होंने दावा किया अस्पताल के अंदर हमास का कमांड सेंटर, आत्मघाती बम जैकेट, ग्रेनेड, एके-47 राइफल, विस्फोटक उपकरण, कंप्यूटर व नकदी बरामद हुए हैं। सेना ने एक वीडियो जारी कर दावा किया हमास के एक गैंग को मार गिराया गया, जो इजरायली सेना पर फायरिंग कर रहे थे। उन्होंने कहा कि हमें हमास आतंकियों द्वारा अस्पतालों को ठिकाने बनाने की बात कुछ हफ्ते पहले पता चली। आइडीएफ ने दावा किया है कि 24 घंटे के दौरान एयर फोर्स ने हमास के करीब 200 ठिकानों को निशाना बनाया है। इसमें आतंकी, हथियार उत्पादन स्थल, एंटी टैंक मिसाइल लांच स्थल और सैन्य मुख्यालय शामिल है।

अल-शिफा अस्पताल परिसर में खोदनी पड़ी सामूहिक कब्र
रायटर के अनुसार, गाजा शहर के सबसे बड़े अस्पताल अल-शिफा के पास गोलाबारी से मरीजों व अन्य शरणार्थियों की जान सांसत में हैं। मंगलवार को मृत लोगों को दफनाने के लिए अस्पताल परिसर में ही सामूहिक कब्र खोदनी पड़ी। इस दौरान बच्चों को बाहर निकालने की कोई योजना दिखाई नहीं दी। अस्पताल में सैकड़ों लोग फंसे हुए हैं। गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता अशरफ अल-किद्रा ने कहा कि अस्पताल के अंदर 100 शव सड़ रहे हैं और उन्हें बाहर निकालने का कोई रास्ता नहीं है।

इजरायली बल अल-शिफा अस्पताल को चारों ओर से घेरे हुए हैं। उनका दावा है कि अस्पताल के नीचे हमास आतंकियों का मुख्यालय है। जबकि गाजा पर शासन करने वाले इस्लामी समूह ने इससे इनकार किया है। कहा, यहां 650 मरीज और 5,000 से 7,000 विस्थापित नागरिक शरण लिए हुए हैं। वहीं, फलस्तीनी स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा सोमवार रात जारी बयान के मुताबिक, ईंधन न मिलने से आक्सीजन की आपूर्ति बंद हो गई है, इससे अल-शिफा अस्पताल में 34 मरीजों की मौत हो चुकी है।

जंग के दौरान मारे गए यूएन के 102 कर्मचारी
सीएनएन ने सोमवार को एन्क्लेव में सक्रिय संयुक्त राष्ट्र सहायता एजेंसी के बयान का हवाला देते हुए बताया कि हमास और इजरायल के बीच संघर्ष शुरू होने के बाद से अब तक गाजा में संयुक्त राष्ट्र के कम से कम 102 कर्मचारी मारे गए हैं। जबकि कम से कम 27 कर्मचारी घायल हुए हैं। इजरायली अथारिटी के अनुसार, सात अक्टूबर को हमास के हमले में 1200 से अधिक लोग मारे गए। वहीं, फलस्तीन अथारिटी के मुताबिक, 13 नवंबर तक गाजा में कम से कम 11,180 लोग मारे गए हैं।

हिजबुल्ला व इजरायली सेना के टकराव में चार लेबनानी मारे गए
हिजबुल्ला और इजरायली सेना के बीच टकराव में चार लेबनानी मारे गए हैं। लेबनानी सैन्य सूत्रों ने सिन्हुआ समाचार एजेंसी को बताया कि इजरायली तोपखाने ने दक्षिणी लेबनान में 28 शहरों के बाहरी इलाकों पर बमबारी की। इसमें देश के दक्षिणपश्चिम में 18 शहर और दक्षिणपूर्व में 10 शहर शामिल थे। इस दौरान 450 से अधिक विस्फोटक और आग लगाने वाले गोले का इस्तेमाल किया गया था।

 

Spread the love