February 24, 2024

घराट

खबर पहाड़ से-

जिलाधिकारी रीना जोशी की अध्यक्षता में संपन्न हुई डीटीडीसी की बैठक, पर्यटन विकास के दृष्टिगत विभिन्न आयोजनों की तैयारियों को लेकर विस्तृत हुई चर्चा।

1 min read

पिथौरागढ़ : जिला पर्यटन विकास समिति(डीटीडीसी) की बैठक जिलाधिकारी रीना जोशी की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट स्थित जिलाधिकारी कार्यालय कक्ष में संपन्न हुई। बैठक में जनपद में पर्यटन विकास के दृष्टिगत विभिन्न आयोजनों की तैयारियों को लेकर विस्तृत चर्चा हुई।
बैठक में तय हुआ कि विश्व पर्यटन दिवस के उपलक्ष में जनपद में आगामी 21 सितंबर से 27 सितंबर तक पर्यटन सप्ताह के अंतर्गत पर्यटन विकास संबंधी विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया जायेगा। जिसके तहत जनपद के पिथौरागढ़ व मुनस्यारी में स्टार गेजिंग कार्यक्रम, घाट क्षेत्र में राफ्टिंग कार्यक्रम, पिथौरागढ़ में हॉट ऐयर बैलुनिग कार्यक्रम, पिथौरागढ़ में एमटीबी कार्यक्रम एवं गंगोलीहाट में पैराग्लाइडिंग का आयोजन किया जायेगा। जिलाधिकारी ने पर्यटन सप्ताह के अंतर्गत होने वाली गतिविधियों की समय सारणी निर्धारित करने के साथ ही तैयारियों को समय पर पूर्ण करने के निर्देश जिला पर्यटन विकास अधिकारी व अन्य संबंधित अधिकारियों को दिये।
इसके अलावा जिलाधिकारी ने जनपद में आगामी माह अक्टूबर में एमटीबी (माउण्टेन टेरेन बाइक) प्रतियोगिता एवं माह नवंबर मे राष्ट्रीय पैराग्लाइडिंग प्रतियोगिता आयोजित कराये जाने को लेकर भी संबंधित अधिकारियों के साथ चर्चा की। उन्होंने जिला पर्यटन विकास अधिकारी एवं जिले के पर्यटन एक्सपर्ट को एमटीबी प्रतियोगिता हेतु दारमा वैली एवं राष्ट्रीय पैराग्लाइडिंग प्रतियोगिता हेतु कनाली पावल क्षेत्र का स्थलीय निरीक्षण कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिये ताकि इन आयोजनों हेतु प्रस्ताव बनाकर सचिव पर्यटन उत्तराखंड शासन को प्रेषित किया जा सकें।
जिलाधिकारी ने जनपद में साइकिलिंग कंपटीशन आयोजन करवाये जाने की योजना बनाने के निर्देश भी जिला पर्यटन विकास अधिकारी को दिये।
इसके अलावा जिलाधिकारी ने पर्यटन विकास से संबंधित अन्य विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की। उन्होंने पर्यटन एक्सपर्ट को निर्देश दिये कि जनपद में ऐसे डेस्टिनेशन की सूची उपलब्ध करायें जिन्हें पर्यटन की दृष्टि से विकसित किया जा सकता है। जिलाधिकारी ने जिला पर्यटन अधिकारी से कहा कि जनपद में ट्रैकिंग करवाने वाले लोगों का पंजीकरण कर उन्हें पहचान पत्र उपलब्ध करायें तथा ट्रैकिंग का प्रशिक्षण भी दिलायें। उन्होंने डीएफओ को छिपला केदार एवं ग्राम हुङेती क्षेत्रान्तर्गत स्थित कौशल्या माता मंदिर के लिए सरल ट्रैकिंग रूट का चयन कर उसे विकसित किये जाने के निर्देश दिये। वहीं ग्रामीण निर्माण विभाग के अधिकारी को भुरमुनि वाटरफॉल के ट्रैकिंग रूट को भी शीघ्र विकसित किये जाने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने जिला पर्यटन अधिकारी को निर्देश दिचे कि पर्यटन कार्यालय में उपलब्ध साहसिक पर्यटन उपकरणों को निम द्वारा निर्धारित दरों पर स्थानीय एजेंसियों को किराये पर उपलब्ध कराया जाय ताकि पर्यटकों व स्थानीय लोगों द्वारा इनका उपयोग सुनिश्चित हो सके।
बैठक में डीएफओ जीवन मोहन दगाड़े, जिला पर्यटन विकास अधिकारी कीर्ति आर्य, अधिशासी अधिकारी नगर पालिका पिथौरागढ़ राजदेव जायसी, सीओ नरेंद्र पंत, जिले के पर्यटन एक्सपर्ट अशोक भंडारी व मनीष मखोलिया आदि उपस्थित थे।

Spread the love