घराट

खबर पहाड़ से-

आयुक्त गढ़वाल मण्डल ने कांवड़ मेला-2023 की तैयारियों के सम्बन्ध में समस्त जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक ली।

1 min read

हरिद्वार : आयुक्त गढ़वाल मण्डल सुशील कुमार की अध्यक्षता में शनिवार को मेला नियंत्रण भवन(सी0सी0आर0) में आगामी 04 जुलाई से प्रारम्भ होने वाले कांवड़ मेला-2023 की तैयारियों के सम्बन्ध में समस्त जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ एक बैठक आयोजित हुई।
बैठक में एसडीएम पूरण सिंह राणा ने प्रस्तुतीकरण के माध्यम से कांवड़ यात्रा का इतिहास, कांवड़ यात्रा की समयावधि, विभिन्न राज्यों से आने वाले कांवड़ियों का क्या अनुपात है, वर्ष 2002 से अब तक कितने कांवड़िये पवित्र गंगाजल लेने आये, कावंड़ यात्रा के क्या-क्या नियम रहेंगे, कांवड़ मार्गों का विवरण, वैकल्पिक मार्गों का विवरण, कांवड़ यात्रा की क्या-क्या चुनौतियां हैं, रोड़ीबेलवाला, बैरागी कैम्प सहित पार्कों में की गयी व्यवस्था, कावंड़ यात्रा के सफल संचालन के लिये नोडल अधिकारियों की नियुक्ति, सरकारी तथा गैर सरकारी प्रमुख स्टेक होल्डर, कांवड़ यात्रियों की सुविधा हेतु प्रशासन की व्यवस्था, कांवड़ मेले की दृष्टि से स्वास्थ्य, नगर निगम आदि विभागों द्वारा की जा रही तैयारियां आदि के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी दी।
कांवड़ मेले के संचालन के लिये बनाई गयी व्यवस्था के सम्बन्ध में आयुक्त गढ़वाल मण्डल द्वारा पूछे जाने पर अधिकारियों ने बताया कि कांवड़ मेले को 12 सुपर जोन, 32 जोन तथा 119 सेक्टरों में बांटा गया है, जिसके पूरे संचालन के लिये पांच नोडल अधिकारी नामित किये गये हैं। इस पर मण्डलायुक्त ने निर्देश दिये कि कांवड़ यात्रा संचालन के लिये जितने भी अधिकारियों की तैनाती की गयी है, उनके मोबाइल नम्बरों को भी शेयर करें। उन्होंने निर्देश दिये कि सभी अधिकारी आपसी समन्वय बनाये रखें ताकि जो भी कांवड़ मेले की व्यवस्था से सम्बन्धित आप कार्य कर रहे हैं, उनके संचालन में कहीं पर भी कोई दिक्कत न आये।
आयुक्त गढ़वाल मण्डल सुशील कुमार ने कांवड़ यात्रा के क्या-क्या नियम निर्धारित किये गये हैं तथा क्या-क्या चुनौतियां हैं, के सम्बन्ध में जानकारी ली तो अधिकारियों ने बताया कि कोई भी कांवड़ 12 फीट से ऊंची नहीं होगी, कांवड़िये कोई भी ऐसी सामग्री अपने साथ लेकर नहीं चलेंगे, जिससे नुकसान पहुंचने की संभावना हो तथा व्यापारी बन्धु भी इस तरह की कोई भी सामग्री की बिक्री नहीं करेंगे तथा कांवड़ियों को निर्धारित ध्वनि प्रदूषण के नियमों का पालन करना होगा।

आयुक्त गढ़वाल मण्डल सुशील कुमार ने एक-एक करके सभी विभागों-लोक निर्माण, स्वास्थ्य, विद्युत, शौचालय, जिला पंचायत, पेयजल निगम, वन विभाग, सिंचाई, आपदा प्रबन्धन, एनएचआई, जल संस्थान नगर निगम, पर्यटन,जिला पंचायत आदि सभी कार्यदायी संस्थाओं से उनके द्वारा कांवड़ मेले की तैयारी के सम्बन्ध में जो भी कार्य किये जा रहे हैं, उनके सम्बन्ध में बारीकी से जानकारी ली तथा अधिकारियों को निर्देश दिये कि जहां पर भी जो भी कमी रह गयी है, उसे 30 जून,2023 तक हर हाल में पूरा करना सुनिश्चित करें।
आईजी0 गढ़वाल मण्डल के0एस0 नगन्याल ने बैठक में सुरक्षा-व्यवस्था, ध्वनि प्रदूषण आदि से निपटने के लिये अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिये।
इस अवसर पर जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय सिंह, मुख्य विकास अधिकारी प्रतीक जैन, अपर जिलाधिकारी(वित्त एवं राजस्व) बीर सिंह बुदियाल, अपर जिलाधिकारी(प्रशासन) पी0एल0 शाह, संयुक्त मजिस्ट्रेट रूड़की अभिनव शाह, सिटी मजिस्ट्रेट नूपुर वर्मा, एस0पी0 सिटी स्वतंत्र कुमार सिंह, एसपी ट्रैफिक रेखा यादव, एमएनए रूड़की/एसडीएम लक्सर विजयनाथ शुक्ल, डीएफओ नीरज शर्मा, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 मनीष दत्त, अधिशासी अभियन्ता लोक निर्माण, सुरेश तोमर, अधिशासी अभियन्ता जल संस्थान मदन सेन, ईई विद्युत एस.एस.उस्मान, रेडक्रास सचिव डॉ0 नरेश चौधरी, आपदा प्रबन्धन अधिकारी मीरा रावत, पर्यटन अधिकारी सुरेश सिंह यादव, पंचायती राज से महेश कुमार विश्नोई, सिंचाई सहित सम्बन्धित पदाधिकारी/अधिकारीगण उपस्थित थे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *