May 19, 2024

घराट

खबर पहाड़ से-

अखिल भारतीय ज्योतिष सम्मेलन में विभिन्न विधाओं के ज्योतिषों ने मंथन किया।

1 min read

मसूरी : मसूरी में द्वितीय अखिल भारतीय ज्योतिष समागम आयोजित किया गया जिसमें देश भर के विभिन्न विधाओं के ज्योतिषों सहित विदेशों से आये ज्योतिषों ने भी प्रतिभाग किया। जिसमें मेडिकल, शादी व्याह में आने वाली परेशानियों, देश की आर्थिक स्थिति, ग्रहों की दशा आदि आने वाले बदलाओं पर चर्चा की गई।
इस मौके पर बतौर मुख्य अतिथि देश के जाने माने ज्योतिष एस्ट्रो अंकल पवन सिन्हा ने कहा कि ज्योतिष सम्मेलन में देश के जाने माने ज्योतिषों ने प्रतिभाग किया व हर विषय पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि ऐसे सम्मेलन होने चाहिए इसके लिए आयोजक बधाई के पात्र है। उन्होंने कहा कि सम्मेलन में मेडिकल, एस्ट्रोलॉजी, शादी व्याह में आने वाली परेशानी, व्यवहार, माता पिता व बच्चों को लेकर चर्चा की गई। उन्हांेने कहा कि ज्योतिष समस्या का समाधान करता है ऐसे में लालच नहीं होना चाहिए समस्या वहीं आती है जब लोग लालच में आते हैं। अगर व्यक्ति कर्म करेगा व मेहनत करेगा व प्रभु शरण में रहेगा तो उसका कल्याण होगा। उन्होंने कहा कि अगर कोई भी ज्योतिष कहता है कि मै यह कर दूंगा यह संभव नहीं है ऐसे लोगों से बचना चाहिए। जब व्यक्ति मुश्किल में होता है तो वह समाधान की तलाश में भागता है ऐसे में उसे ज्योतिष के दिखाये मार्ग पर चलना चाहिए व उपाय करें सब ठीक हो जायेगा। सभी को श्रेष्ठ कर्म करने चाहिए ऐसे में उनका भाग्य अपने आप बन जायेगा। इस मौके पर महामंडलेश्वर संजीव जी महाराज ने कहा कि यह सम्मेलन लोगों में जागरूकता लाना व सच्चाई को सामने लाना जो मानव की भलाई के लिए है यह किसी भी जाति धर्म से उपर है। मसूरी में ऐसे कार्यक्रम कम होते हैं इसलिए यह सम्मेलन यहां करवाया गया। इस सम्मेलन में सूरीनाम, कनाडा, हांगंकांग, दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, कर्नाटक, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, उत्तराखंड, उत्तरप्रदेश सहित अन्य राज्यो से आये हैं। उन्होंने कहा  िकइस सम्मेलन में 157 ज्योतिष आये हैै। सम्मेलन में ग्रहों के परिवर्तन होने से क्या क्या प्रभाव मानवजीवन व धरती पर पड़ता है इस पर चर्चा के साथ ही आने वालेसमय में भारत में क्या होने वाला है क्या हो रहा है उस पर चर्चा की गई वर्ष 2024 में देश की स्थिति कैसी रहेगी उस पर वार्ता की गई देश की करंसी में बदलाव होगा इस पर भी चर्चा की गई। सम्मेलन में टैरो, रमन, वैदिक जयोतिष, सामुद्रिक शास्त्र, वास्तुशास्त्र, पामिस्ट, सहित अन्य विधाओं के ज्योतिष प्रतिभाग कर रहे है। ताइवान से आये ज्योतिष डा. साई स्वजीत आचार्य ने कहा कि यहंा पर ज्योतिष पर विभिन्न विधाओं पर चर्चा हो रहा है देश विदेश से विद्वान जयोतिष आये है व अनुभवी ज्योतिषों से सीखने को मिल रहा है। इस मौके पर ज्योतिषों को मुख्य अतिथि के हाथों सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का संचालन करनाल के युगल किशोर चौधरी ने किया। इस मौके पर धन प्रकाश अग्रवाल, धमेंद्र कुमार बंसल, अनुराग कौशिक, आचार्य सागर, विकास बत्तरा, आदि मौजूद रहे।

Spread the love